Lost inventions (कुछ ऐसे अविष्कार जो इन्सान की जिंदगी बदल सकते थे )

कुछ ऐसे अविष्कार जो इन्सान की जिंदगी बदल सकते थे

2 lost invention

Hello दोस्तों, आपने कई बार सुना होगा की कुछ महँ लोगों ने कुछ ऐसे अविष्कार किये जिन्होंने इन्सान की दुनिया पूरी तरह से बदल दी | जिसमे लाइट के अविष्कार से लेकर मोबाइल के अविष्कार तक लिस्ट है |

पर क्या अब जानते है की इस दुनिया में कुछ ऐसे भी अविष्कार थे | जिन्हें छुपाया गया क्योंकि वो वक़्त से काफी आगे थे | और वो इन्सान की जीवन को पूरी तरह से बदल के रख देते |

तो आज हम बात करेंगे ऐसे ही कुछ अविष्कारों के बारे में जो दुनिया के सामने आ जाते तो आज दुनिया कुछ और होती |

 

Tom Ogle Carburetor

सन १९७८ में टॉम ओगले ने एक ऐसे कार्बोराटर की खोज की जो की ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री का भाग्य बदल देता .

ये अविष्कार तब हुआ जब १९ साल के टॉम ने अपने लों कटर के फ्यूल टैंक में गलती से छेद कर दिया ,  छेद को बंद करने की जगह टॉम ने उसे, वच्चुम लाइन की मदत से कार्बोराटर में लगा दिया और इससे लों कटर का टैंक आधा होने के बाद भी ९६ घंटे चलता रहा |

अगले ५ सालो में टॉम ने अपनी कार पर काफी प्रयोग किये और उन्होंने फ्यूल पंप और कार्बोराटर की जगह एक कला बॉक्स लगाया  जिसे वो फ़िल्टर कहते थे |

tom-ogle-lost-invention

उस काले बॉक्स को लगाने से  उनकी कार २० से १०० Galan की क्षमता देने लगी | उन्होंने ये बात भी साफ़ की , की इससे गाडियों का मायलेज बढ़ने के साथ साथ इंधन का उपयोग भी ना के बराबर होगा जिससे वातावरण का कम से कम नुकसान होगा |

२४ साल की उम्र में टॉम ने प्रेस को अविष्कार के बारे में सूचित किया और दावा किया की वो २००मिल की दुरी २ गलन में ही ख़तम कर्र सकते है |

शंका दूर करने के लिए उनकी कार की अच्छी तरह से तलाशी ली जब वो कुछ नहीं दुंद पाए और टॉम ने अपनी यात्रा पूरी की तब उनका एक अविष्कारक के रूप में स्वागत किया गया | जिसने एक ऐसी मशीन का अविष्कार किया था जिसमे इंधन की खपत ना के बराबर होती थी |

जब टॉम को इस प्रोजेक्ट को सफल करने के लिए निवेश मिलना सुरु हुवा तो अफवाए फैलनी सुरु हुई की इसका पेटंट दूसरी कंपनी के पास पहले से ही है | जिसमे जनरल मोटर्स (GM) भी शामिल थी |

tom ogle lost invention in hindi

जनरल मोटर्स अमेरिका की एक बहोत जनि मणि कंपनी है | यही नहीं टॉम के साथ जुड़े सभी दोस्तों का स्वाभाव टॉम के प्रति बदलने लगा और सब साथी ए कहने लगे की ये काम नहीं करेगा और SheelOil कंपनी ने सुरुवात में जो १०,००,०००/- का जो निवेश किया था वो भी वापस ले लिया |

ये सब होने के बाद टॉम नशे का शिकार हो गए और १९८१ में बार के बहार किसीने उनको गोली मर दी | लेकिन जाँच के बाद उनकी मृत्यु को आत्महत्या घोषित किया गया जिसमे ये बताया गया की मौत का कारण ड्रग्स ओवरडोस था |

पर टॉम के दोस्तों का ये कहना था की टॉम आत्महत्या करने वालो में से नहीं थे | और टॉम ने कई बार कहा था की उन्हें शक होता है की उनके ड्रिंक से कोई छेड़छड करता है |

टॉम की मृत्यु से जुड़े कई अनसुलझे सवाल है | जैसे की वो कंपनी कभी सामने नहीं आई जो बोल रही थी की उनके पास इस अविष्कार के पेटंट पहले से ही थे |

 

Plasma Battery

Dimitri Petronov के बारे में जानकारी काफी कम है, पर ये पता है की वो अस्तित्व में थे | उनका जनम १९५२ में हुआ था | वे पढ़ने के लिए बर्लिन के बेस्ट Engeenering कोल्लागे में गए थे उसके बाद उन्होंने २० साल से ज्यादा एक कंपनी में काम किया |

अपने खली समय में Petronov अविष्कार करते रहते थे | जिसमे से पहला अविष्कार एक बहुत ही तेज LED Flash Light थी | जिसने महंगा होने के कारण कम लोगों को आकर्षित किया | इसके बाद उन्होंने एक Plasma Battery का अविष्कार किया |

Petronov दावा करते थे की इसे Charge किये बिना लगातार ३ साल तक इस्तेमाल किया जा सकता है | उन्होंने इसे इस्तेमाल करके अपना पूरा घर बिजली से प्रकाशित किया

जब इसके बारे में पता चला तब Dimitri को २००९ में इसकी योग्यता दिखने के लिए एक मिलट्री लैब में मोस्को से निमंत्रण आया | Dimitri वहा अपने साथ डुप्लीकेट बैटरी ले गए | जिसे मिलट्री ने रख लिया |

जब वो वापस आये तब उनकी बहिन ने कहा था की वो काफी खुश थे | पर उन्होंने मीटिंग के बारे जादा बात नहीं कीं | केवल ये बताया की मिलिट्री उनके अविष्कार में निवेश करने के लिए तैयार है | पर शर्त यर थी की Battery का इस्तेमाल केवल रशिया में ही किया जायेगा |

इस घटना के बाद Dimitri से कोई Vhaidiman नमक युवक मिलने आया था | उनकी बहिन ने बताया की उस मुलाक़ात के बाद Dimitri थोड़े परेशां हो गए थे | उसके बाद Dimitri अपनी बहिन को कभी नहीं दिखे |

जब उनकी बहिन पुलिस में भाई के गुमशुदा होने की रिपोर्ट लिखवाकर वापस आई तब घर में अँधेरा था और पड़ोसियों ने बताया की दो मिलिट्री के आदमी उनके घर में घुसे थे | और Dimitri की खोज की हुई Plasma Battery अपने साथ ले गए |

दो हप्तो बाद जब Dimitri का कुछ पता नहीं चला तब उन्हें एक पार्सल मिला जिसमे Dimitri की घडी थी |

Dimitri के गुमशुदा होने के एक साल बाद, एक सदी हुई लाश रशिया की Vholgal नदी में मिली जिसके हाथ और दात गायब थे | जिससे उसकी पहचान कर पाना मुश्किल था पर एसा मन जाता था की वो दिमित्री की ही लाश थी | पर इसकी पुष्टि कभी नहीं हो पायी |

तो अब आप बताइए क्या हमसे कुछ छुपाया जा रहा है ? क्यों वो सभी गायब हो गए या फिर किसी उन्जन हत्से का शिकार हो गए ? अगर ये अविष्कार आज होते तो हम आज कैसी जिन्दी जी रहे होते ? अपने जवाब कमेंट में जरुर लिखयेगा दोस्तों | धन्यवाद

आपको अगर हमारी पोस्ट पसंद आई हो तो हमें जरुर बताये और मेरी पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ शेयर करना मत भूले |

 

40 total views, 1 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *